बिना तलाक दूसरी शादी कैसे करें? दूसरी शादी करने के नियम 2023

शादी-विवाह को लेकर देश में हर धर्म के अलग कानून हैं। इसमें बिना तलाक दूसरी शादी को लेकर भी भिन्न भिन्न प्रावधान किए गए हैं। जहां मुस्लिम विवाह अधिनियम पुरुष को बिना तलाक दूसरी शादी करने की इजाजत देता है, वहीं हिंदू विवाह अधिनियम -1955 के अनुसार किसी हिंदू, बौद्ध अथवा सिख को बिना तलाक दूसरी शादी करने का अधिकार नहीं है। इसके बावजूद कभी प्रेम संबंधों के चलते अथवा कई बार विवशता में लोग दूसरा विवाह कर लेते हैं।

कानूनी रूप से इस विवाह को शून्य माना जाता है। कुछ मामलों में अवश्य हिंदू बिना तलाक शादी कर सकते हैं। इन स्थितियों के बारे में कानून में साफ़-साफ़ उल्लेख किया गया है। आज इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि बिना तलाक लिए दूसरी शादी कैसे कर सकते हैं।

Contents show

बिना तलाक दूसरी शादी किन परिस्थितियों में कर सकते हैं? [Under what circumstances can a second marriage take place without divorce?]

मित्रों, अब हम आपको यह बताएंगे कि किन स्थितियों में बिना तलाक दूसरी शादी की जा सकती है। ये इस प्रकार से हैं-

  • 1. किसी स्त्री अथवा पुरुष के जीवन साथी की मृत्यु होने पर।
  • 2. यदि विवाह योग्य आयु न होने या किसी अन्य कारण से कोर्ट ने पहले विवाह को रद्द कर दिया हो।
  • 3. यदि किसी स्त्री अथवा पुरुष का जीवन साथी लगातार 7 वर्ष से अनुपस्थित हो और उसके जिंदा रहने की कोई सूचना ना हो।
  • 4. यदि धर्म परिवर्तन कर लिया गया हो।

1. किसी स्त्री अथवा पुरुष के जीवन साथी की मृत्यु होने पर –

यदि दुर्भाग्यवश किसी स्त्री अथवा पुरुष के जीवन साथी की मृत्यु हो जाती है, तो ऐसी परिस्थिति में किसी तलाक की आवश्यकता नहीं होती है। ऐसी परिस्थिति में स्त्री या पुरुष फिर से शादी कर सकते हैं। कुछ समय पहले समाज में विधवा स्त्रियों का पुनर्विवाह करना सम्मान पूर्ण दृष्टि से नहीं देखा जाता था। लेकिन आज परिस्थितियों में काफी परिवर्तन आ चुका है।

आज समाज में विधवाओं का पुनर्विवाह कराया जा रहा है। इसमें सरकार भी सहायता प्रदान कर रही है। एवं विधवा महिलाओं का पुनर्विवाह कराने के लिए आर्थिक सहायता एवं पुरस्कार भी प्रदान कर रही है। इसके साथ ही कुछ संगठन भी समाज में विधवा पुनर्विवाह कराने में सहायता प्रदान कर रहे हैं।

2. यदि किसी कारणवश कोर्ट द्वारा विवाह रद्द कर दिया गया हो –

ऐसी परिस्थितियां जिनमें तलाक लिए बिना विवाह करना संभव है, उनमें दूसरी परिस्थित यह है कि यदि किसी कारणवश कोर्ट द्वारा किसी जोड़े का विवाह रद्द कर दिया जाता है। तो ऐसी परिस्थिति में बिना तलाक लिए दूसरा विवाह करना संभव है। ऐसी परिस्थितियों में पहले से ही कोर्ट द्वारा विवाह रद्द कर दिया जाता है। जिसके कारण तलाक लेने की कोई आवश्यकता नहीं होती है। जिसके कारण आप बिना तलाक दूसरी शादी कर सकते हैं। कोर्ट द्वारा विवाह रद्द करने की के कई कारण हो सकते हैं जैसे – नाबालिक का विवाह करना, पति पत्नी दोनों में से कोई एक का मानसिक संतुलन ठीक ना होना आदि।

बिना तलाक दूसरी शादी कैसे करें? दूसरी शादी करने के नियम 2023

3. पति पत्नी दोनों में से कोई एक का 7 सालों से लापता होना –

यदि किसी स्त्री पुरुष का जीवन साथी लगाता 7 सालों से लापता होता है तो उसे भी तलाक लेने की कोई आवश्यकता नहीं होती है। ऐसी परिस्थिति में स्त्री पुरुष बिना तलाक दूसरी शादी कर सकते हैं। लेकिन ध्यान दें कि आपका जीवन साथी लगातार 7 सालों से लापता हो। और उसे खोजने की सभी कोशिशें नाकाम हो चुकी हो तभी आप बिना तलाक लिए दूसरे शादी कर सकते हैं।

4. पति पत्नी दोनों में से किसी एक ने धर्म परिवर्तन कर लिया हो –

बिना तलाक लिए दूसरी शादी करने की परिस्थिति में धर्म परिवर्तन भी शामिल है। समाज में आपको अनेकों ऐसे उदाहरण मिल जाएंगे। जिनमें धर्म परिवर्तन करने के बाद बिना तलाक दूसरी शादी की गई है अलग-अलग धर्म में शादी करने के अलग-अलग नियम है। इसके साथ ही भारतीय संविधान में भी अलग-अलग धर्मों में शादी के लिए अलग-अलग कानून बनाए गए हैं। जैसे हिंदू धर्म में केवल एक समय में एक ही शादी की जा सकती है।

एक जीवन साथी के रहते हुए दूसरी शादी करना गैर-कानूनी है। लेकिन वह दूसरी तरफ मुस्लिम समाज में भारतीय संविधान के अनुसार भी चार शादियां करने की अनुमति प्राप्त है। इसलिए यदि किसी का जीवन साथी धर्म परिवर्तन कर लेता है तो वह बिना तलाक लिए दूसरी शादी कर सकता है।

तलाक बिना दूसरी शादी करने के उदाहरण – [Examples of remarrying without divorce]

दोस्तों, हम जिस समाज में रहते हैं उसमें बिना तलाक दूसरी शादी के अनेक उदाहरण हैं। सबसे बड़ा उदाहरण फिल्म अभिनेता धर्मेंद्र और ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी की शादी का है। धर्मेंद्र क्योंकि हिंदू और पहली पत्नी के साथ होने की वजह से दूसरा विवाह नहीं कर सकते थे। ऐसे में उन्होंने धर्म परिवर्तन कर और मुस्लिम बनकर हेमा मालिनी से शादी रचाई। कई मामलों में यह भी हुआ कि पहली पत्नी के कोई ऐतराज न करने पर पतियों ने दूसरी शादी कर ली।

ऐसा चलन बालीवुड फिल्म इंडस्ट्री में अधिक है। बिना शिकायत पत्नियां पति की दूसरी शादी को स्वीकार कर लेती हैं, जिससे पति कानूनी कार्रवाई से बचा रहता है। इतना ही नहीं, फिल्म इंडस्ट्री में तलाक का चलन भी बेहद आम है। बालीवुड अभिनेता-अभिनेत्रियां कई कई विवाह करते हैं।

जैसे-किशोर कुमार ने चार शादियां की। विनोद मेहरा व विनोद खन्ना ने दो शादियां कीं। फिल्म अभिनेता कमल हासन ने भी दो शादी की। कुछ ऐसे भी हैं, जो पहली पत्नी को तलाक देकर अब लिव इन रिलेशनशिप में हैं। जैसे-फिल्म अभिनेता, निर्माता फरहान अख्तर, अर्जुन रामपाल आदि।

हिंदू विवाह अधिनियम में बिना तलाक दूसरी शादी पर सजा का प्रावधान –

जिन परिस्थितियों का हमने पोस्ट में ऊपर जिक्र किया, इसके अलावा और किसी भी तरीके से हिंदू विवाह अधिनियम में पति को दूसरी शादी का अधिकार नहीं है। यदि वह ऐसा करता है तो इस शादी को शून्य माना जाएगा। आईपीसी यानी इंडियन पेनल कोड (Indian penal code) की धारा 494 के तहत इसे दंडनीय अपराध घोषित किया गया है। कोर्ट ऐसे मामले में दोषी को 7 साल की सजा और जुर्माना दोनों सुना सकती है।

आपको बता दें दोस्तों कि संतान न होने पर अथवा पुत्र की चाह में गांव गली में आज भी लोग दूसरी शादी से गुरेज नहीं करते। यह अलग बात है कि यदि शिकायत हो जाए तो यह शादी अवैध मानी जाएगी एवं दूसरी पत्नी व उसकी संतान को पैतृक संपत्ति में कोई अधिकार भी नहीं होगा।

मुस्लिम विवाह कानून में पुरुष को छूट –

दोस्तों, आपको बता दें कि मुस्लिम विवाह कानून -1939 मुस्लिम पुरुष को बिना तलाक लिए दूसरी शादी का अधिकार देता है, लेकिन खास बात यह है कि मुस्लिम महिला को यह अधिकार नहीं है। मुस्लिम महिला पहले पति के होते हुए दूसरा निकाह नहीं कर सकती। उसे दूसरी शादी के लिए हाल में पहले पति से तलाक लेना ही होगा। इससे साफ है कि दावे बेशक स्त्री व पुरुष की बराबरी के किए जाएं, परंतु महिलाओं को पुरुषों जितनी छूट कतई हासिल नहीं।

शादी के कितने साल बाद तलाक लिया जा सकता है?

दोस्तों, आपको बता दें कि साथ रहने के अनिच्छुक किसी भी पति-पत्नी द्वारा शादी के एक साल पूरे होने के पश्चात ही तलाक के लिए आवेदन किया जा सकता है। इसके पश्चात छह महीने का कूलिंग पीरियड भी निर्धारित किया गया था, लेकिन बाद में इसे आवश्यक की श्रेणी से बाहर कर दिया गया।

सरकारी कर्मचारियों को विवाह संबंधी जानकारी देना आवश्यक –

साथियों, आपको बता दें कि केंद्र सरकार के सभी कर्मचारियों को सरकार के नए प्रस्ताव के अनुसार अपनी सर्विस बुक (service book) में अपनी दूसरी शादी के बारे में अवश्य जानकारी देनी होगी। आपको यह भी जानकारी दे दें कि करीब डेढ़ वर्ष पूर्व केंद सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग यानी डीओपीटी (DOPT) ने कर्मचारियों की सर्विस बुक का आधुनिकीकरण (modernization) करने का फैसला लिया था।

इसका उद्देश्य सर्विस बुक को इस्तेमाल करने वालों के अनुकूल बनाना था। आपको बता दें मित्रों कि वर्तमान मानदंडों के मुताबिक कोई भी सरकारी कर्मचारी ऐसे किसी व्यक्ति के साथ विवाह नहीं करेगा, जिसकी पति अथवा पत्नी जीवित हो। इसके लिए केंद्र सरकार से अनुमति की बाध्यता रखी गई।

भारत में प्राचीन काल में रहा बहु-विवाह का प्रचलन –

मित्रों, इस बात को आप भी अवश्य जानते होंगे कि भारत में प्राचीन काल में बहु-विवाह का प्रचलन रहा है। प्राचीन काल में राजा-महाराजा कई-कई शादियां करते थे। स्वयं भगवान श्रीराम के पिता राजा दशरथ की चार रानियां थीं। और रामचंद्र उनकी सबसे बड़ी रानी कौशल्या के पुत्र थे। राजा-महाराजाओं के पहली पत्नी के रहते दूसरे विवाह करने के कई कारण होते थे, जिनमें सबसे बड़ा राजनीतिक कारण होता था।

दुश्मन राजा से संधि, अपने राज्य की सीमाओं को सुरक्षित व मजबूत रखने के उद्देश्य से भी राजा संबंधित राज्यों की राजकुमारियों को अपनी रानी बनाया करते थे। किसी राजा की कई रानियों में से किसी एक रानी को ही पटरानी का दर्जा मिलता था। इसके अतिरिक्त किसी रानी से संतान अथवा पुत्र उत्पन्न न होने पर दूसरा विवाह करने का प्रचलन भी बेहद आम था।

धीरे-धीरे इस चलन में कमी आई। महिलाओं के अधिकारों की बात उठी। शादी विवाह को कानूनी दायरे में लाया गया। और हम आपको बता चुके हैं कि यदि हिंदू विवाह अधिनियम की बात करें तो वह केवल एक विवाह की अनुमति देता है।

वेस्ट यूपी में रुपया रखने तो पंजाब में चादर डालने का चलन रहा है?

हमने आपको अभी बताया कि बिना तलाक लिए दूसरी शादी जीवन साथी की मौत की स्थिति में संभव है। वेस्ट यूपी में ऐसी स्थिति में रुपया रखने का चलन रहा है तो पंजाब में चादर डालने का। इसे ऐसे समझा जा सकता है-मान लीजिए कि किसी महिला के पति की मृत्यु हो जाती है तथा यदि पति के परिवार में उसका छोटा भाई अथवा अन्य कोई युवक विवाह योग्य है तो महिला का रुपया संबंधित युवक के यहां रखा जाता है। यानी महिला का विवाह उक्त युवक से करा दिया जाता है।

बिना तलाक दूसरी शादी कैसे करें? दूसरी शादी करने के नियम 2023

कई परिवारों में विधवा भाभी की शादी विवाह योग्य देवर से करा दी जाती है। इसके पीछे परिवार का उद्देश्य महिला का घर बसाने के साथ ही यदि पहली शादी से कोई बच्चा है तो उसकी उचित देख-रेख से है। यह माना जाता है कि परिवार से अच्छी परवरिश बच्चे को कोई दूसरा नहीं दे सकता।

इसी तरह पंजाब में पहले पति के न रहने पर महिला की परिवार के किसी दूसरे युवक से शादी को चादर डालना कहते हैं। इस रस्म को लेकर एक बहुत मशहूर उपन्यास एक चादर मैली सी लिखा गया है। जिस पर इसी नाम से एक फिल्म भी बनी है। उसमें मुख्य भूमिका मशहूर फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी ने अदा की थी।

तलाक बिना दूसरे विवाह के कई मामले सामने आते हैं?

तलाक बिना शादी के कई मामले सामने आते हैं। कोर्ट के सामने संपत्ति से जुड़े विवादों में ऐसे मामले सामने आए हैं, जब किसी व्यक्ति की संपत्ति पर उत्तराधिकार के हक के लिए दावेदार के माध्यम से व्यक्ति के पहली पत्नी के जीवित होते व उसे तलाक बिना दूसरी शादी कर लेने की बात का खुलासा हुआ। टूरिंग जाब या घर से बहुत दिनों तक दूर रहने वाले लोगों में तलाक बिना दूसरी शादी के मामले भी देखने को मिले हैं। ज्यादातर वहीं मामले खुल पाते हैं अथवा कोर्ट पहुंचते हैं, जहां महिला अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होती है। एवं पति को उसके इस कदम के लिए दंडित करने को तत्पर होती हैं।

कई महिलाएं वित्तीय अथवा आर्थिक रूप से पति पर इतनी निर्भर होती हैं कि वे इसे अपना घरेलू मामला मान शिकायत करने तक नौबत नहीं उठातीं। राजनेताओं के भी ऐसे कई मामले देखने को मिले, जहां पति ने बिना पत्नी को तलाक दिए दूसरी शादी रचा ली। जैसे-रामविलास पासवान, मुलायम सिंह यादव आदि।

रामविलास पासवान की पहली पत्नी गांव में रह रही थीं। रामविलास दिल्ली आए तो यहां उन्होंने दूसरा विवाह कर लिया। हालांकि जब चुनाव लड़ने की बात आती है तो डिक्लेरेशन में ऐसा करने वाले नेता अपनी वैध पत्नी की ही जानकारी देते हैं। यह बात अलग है कि सार्वजनिक जीवन में होने की वजह से उनकी सच्चाई लोगों से छिपी नहीं रहती।

बिना तलाक दूसरा विवाह करने से जुड़े सवाल जवाब –

क्या हिंदू विवाह अधिनियम बिना तलाक दूसरी शादी की इजाजत देता है?

जी नहीं, एक पत्नी के होते बिना तलाक दूसरी शादी की इजाजत नहीं।

किन परिस्थितियों में बिना तलाक दूसरी शादी हो सकती है?

यदि कोर्ट ने पहली शादी को रद्द कर दिया हो अथवा जीवनसाथी सात वर्ष से लगातार अनुपस्थित हो तथा उसके जीवित होने के संबंध में कोई सूचना न हो ऐसी स्थिति में बिना तलाक दूसरी शादी संभव है।

शादी के कितने समय बाद तलाक के लिए आवेदन किया जा सकता है?

शादी के एक साल के पश्चात तलाक के लिए आवेदन किया जा सकता है।

क्या मुस्लिम विवाह कानून महिला को बिना तलाक दूसरे निकाह की इजाजत देता है?

जी नहीं, मुस्लिम विवाह कानून-1939 में महिलाओं को यह अधिकार नहीं दिया गया है।

क्या मुस्लिम पुरुष बिना तलाक दूसरी शादी कर सकते हैं?

जी हां, मुस्लिम विवाह कानून में पुरुषों को ऐसा करने की छूट दी गई है।

दोस्तों, इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बिना तलाक दूसरी शादी किए जाने के संबंध में अहम जानकारी दी। उम्मीद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी। इस पोस्ट को लेकर आपका कोई सुझाव अथवा सवाल है तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके उसे हम तक पहुंचा सकते हैं। इस जानकारी को आप अधिक से अधिक शेयर कर महिलाओं को उनके हक के प्रति जागरूक करें। ।।धन्यवाद।।

प्रवेश कुमारी

मास मीडिया क्षेत्र में अपनी 15+ लंबी यात्रा में प्रवेश कुमारी कई प्रकाशनों से जुड़ी हैं। उनके पास जनसंचार और पत्रकारिता में मास्टर डिग्री है। वह गढ़वाल विश्वविद्यालय, श्रीनगर से वाणिज्य में मास्टर भी हैं। वह वाणिज्य, व्यापार, कर, वित्त और शैक्षिक मुद्दों और अपडेट पर लिखना पसंद करती हैं। अब तक उनके नाम से 6 हजार से अधिक लेख प्रकाशित हो चुके हैं।

Comments (34)

    • इसके लिए आप किसी वकील से जानकारी प्राप्त कीजिये।

      Reply
  1. Mere pati ka extra marital affair pichale 9 saal se hai,mujhe ye jankari thi,fir bhi me unhi ke sath rahti hu,ab vo mujh pr presure bana rhe hai ki me unhi NOC du ki vo dusari shadi ker le,me kya karu

    Reply
    • NOC mat dijiye. NOC de degi to fir aap kuch nhi kar skti hai. Aap pahle unhe samjhaye aur na mane to kisi rishtedar ki help lijiye.

      Reply
    • Jab pati face krta uska kya hoga…present me women miss use the law …i want gender neutral law…..male ke liye ko law nhi….current me larka ho larki both r equal… Fir kyu law different… And 498act bahut galt istmal ho rha …middle family kya kre ….

      Reply
  2. Mere pati ke affairs chal rahe hai 4 year se ab maine unke sath nhi rehna chahti unse divorce lena chahti hun lekin vo nhi de rahe to mujhe kya karna chahiye?mera 2saal ka ek beta bhi hai

    Reply
      • Sir maine 2019 April ko shadi ki thi mai phle se out of india job krta tha mai shadi ke 6 mahine bad wha waps chla gya job krne jiss se meri shadi hui thi wo ladki yha se mujh chor ke teen sal se Dubai mai job kar rhi mujh ab se aleg rhna hai fir se shadi krni !!
        I’m mohd riyaz from delhi

        Reply
    • जब तक उस महिला का उसके पति से तलाक नहीं होता है तब तक आप उस महिला से शादी नहीं कर सकते हैं. इसके अतिरिक्त बिना तलाक दिए दूसरी शादी कर सकते है उसके कुछ नियम है जिनका उल्लेख आर्टिकल में किया गया है.

      Reply
  3. Ek Ladki ne Bina tlaak liye mujh se shaadi ki h.
    Usne mujhe bola tha ki vo tlaak shuda h..Lakin tlak nhi liya hua..
    Uske phle ptti ne shaadi krr li h or 2 bche hai..
    Meri phli Patni expire ho chuki h… mere bhi 2 bche hai..
    Main usse tlak chahta hu… kya kru

    Reply
    • इस संबंध में आप बेहतर जानकारी के लिए वकील से मिले।

      Reply
  4. मेरी एक चाची है जो किसी और पुरुष के साथ भाग गई है रिपोर्ट हो चुकी है । पुलिस कोई कार्यवाही नही कर रही है । वह पुरुष उन्हें (चाची को) छुपा कर रखा है ।
    1 महीने की बात है
    चाचा अभी जीवित है घर पर ही है
    3 बच्चे है

    1. क्या वह दोनों कोर्ट मैरिज कर सकते है ?
    2. इस स्थिति में हमे क्या करना चाहिए ?

    Reply
    • इस संबंध में पुलिस ही आपकी मदद कर सकती है. पुलिस के बड़े अधिकारियों से इस संबध में शिकायत करे. आप चाहे तो कोर्ट का भी सहारा ले सकते है.

      Reply
  5. Sir mere husband 3 admi ke samne talak de diya hai ab wo bolta hai ki mene talak nahi diya hai admi gawa ke tor me majud hai aur cort me gawah de sakti hai to me dusri Sadi kar sakti hu

    Reply
    • कानूनी तौर पर तलाक की पूरी प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद ही आप दूसरी शादी कर सकती है. इससे पहले आप दूसरी शादी नहीं कर सकती है.

      Reply
  6. जब लड़की या लड़का बद चलन हो और दोनो में आपस में मेल मिलाप की कोई गुंजाइश न होऔर संतान के कारण दोनो के माता पिता को क्या करना चाहिए।

    Reply
    • रिश्तेदार घर परिवार एवं आपसी सहमत से जो भी निर्णय होगा ले सकते हैं या फिर कोर्ट का सहारा लेकर जो भी उचित निर्णय लगे उसे अपना सकते हैं ।

      Reply
  7. Sir mera naam muskan h hmare shadi ko 4saal hogye mere husband mjhe divorce derhe h dusri shadi krna chahte h mjhe talak nhi dena meri 3saal ki ladki h mjhe kya krna chahiye sir

    Reply
    • Apke pati apki sehmati ke bagair talak nhi le sakte yadi unke pass ek tarfa talak ke liye koi paryapt aadhar nahi. Yadi ve apse alag rah rahe Hain to aap unse Gujara bhatta mang sakti hain

      Reply
  8. पत्नी ने सिर्फ पैसे के लिए शादी की है और पति के साथ पैसे का फ्रॉड किया है और पति को रेप के झूठे केस मैं फसा दिया हो और अब पति एक तरफा तलाक लेना चाहता हो और उसे कुछ भी हरजाना देना चाहता हो तो क्या पति को तलाक मिल जाए गा कितने समय मै सबूत सब है ।

    Reply
    • यदि आपके पास सारे सबूत हैं तो आप किसी अच्छे वकील से चला लीजिए ।

      Reply
  9. Shadi suda vyakti ke patni evam 3 bachhe Hain. Lekin usne ek widhva ko fasakar paise bhi le liye evam wishes ke make evam sasural ki ksrodo ki sampati ko hadpana Chahta hai. Widow ke 16 varsh ki putri aisa karne se apani mas ko ROK rhi H.Widow 44 varsh ki H. Complaints make/sasural wale kar dena chahte Hain. Please bataye

    Reply
    • आप किसी अच्छे वकील से सलाह लीजिए ।

      Reply
  10. Dear sir bagair talak liye Dusri shadi kaise kare muche court mreg karna hai process kaise kare mai dono bibiyo ko ek sath Rakhna jahata hon so ply hell me court mreg sajetion

    Reply
    • यदि पहली बीवी आपको अपने स्वीकृत देती है तो आप दूसरी शादी कोर्ट मैरिज द्वारा कर सकते हैं । लेकिन यदि पहली बीवी को कोई आपत्ति है तो आप दूसरी शादी कानूनी रूप से नहीं कर सकते हैं ।

      Reply
  11. Meri gf ki shadi ho gayi hai usko 2 ladkiyan hai uska cast aur mera cast bhi alag hai aur state bhi alag hai so kya Bina talakh dusri shadi karna sambhav hai sir

    Reply

Leave a Comment